XXX वीडियो देखने वाले 99% लोग नही जानते ये बातें!! // Side Effects Of Watching Adult Videos On Our Body !!

दोस्तों इस समय भारत कुछ मामलों में बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है है जिसमें पॉपुलेशन और पोर्न देखने की लत जैसी चीजें भी शामिल है जो कि शायद कम होना चाहिए | इस समय भारत पोर्न देखने के मामले में दुनिया में भारत को तीसरा स्थान प्राप्त है ऐसे में आपको पोर्न के बारे में कुछ बातें पता होनी चाहिए जो आज हम आपको इस पोस्ट के जरिए बताने वाले हैं |

xxx वीडियोस देखने से हमें शारीरिक और मानसिक नुकसान तो होते ही है साथ ही कुछ नुकसान हमारे मोबाइल फ़ोन से भी जुड़े होते है। सबसे पहले हम बात करेंगे शारीरिक नुकसानों की । दोस्तों शारीरिक नुकसान वह नुकसान होते है जो शरीर से सम्बंधित होते है। दोस्तों कई लोग xxx वीडियोस देखने के बाद हस्तमैथुन करते है। दोस्तों हस्तमैथुन करने से हमारे शरीर में भरी में खून की कमी होती है। चलिए अब बात करते है मानसिक नुकसानों की। दोस्तों मानसिक नुकसान वह नुकसान होते है जो हमारे दिमाग पर बुरा असर डालते है। दोस्तों xxx वीडियोस देखने से हमारे शरीर में कई तरह के मानसिक नुकसान होते है। xxx वीडियोस देखने से हमारी यादाश्त पर बुरा असर पड़ता है ,हमारी यादाश्त कमज़ोर हो जाती है। साथ ही हम भुलक्कड़ भी हो जाते है। हमें कुछ यद् नहीं रहता और हम किसी की बात का कहना नही मानते।–

-एक रिसर्च के मुताबिक जो लोग ज्यादा पोर्न देखते हैं उनके सोचने समझने की क्षमता कम होती चली जाती है और दिमाग का विकास भी रुक जाता है |

-साइंस के मुताबिक ज्यादा पोर्न देखने से आपका स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता है और आप जल्दी हिंसक हो जाते हैं जिससे आपके परिवार पर गहरा प्रभाव पड़ सकता है |

-अब बाटी अति है उन नुकसानों की जो हमारे फोन से जुड़े होते है। सस्तो अपने देखा होगा की जब आप xxx वीडियोस की वेबसाइट खोलते है तो कई बार यह वेबसाइट रेडिरेक्ट हो जाती है। दोस्तों ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इन वेबसाइट्स पर बहुत सरे हैकर्स अपना वायरस डाल देते है और हमारा सारा डेटा चोरी का लेते है। दोस्तों यह हैकर्स हमारे मोबाइल फ़ोन के कांटेक्ट नंबर्स,व्हाट्सएप्प नंबर,इमेजेज,और बहुत साडी इनफार्मेशन चोरी कर लेते है। जिससे कि आपको आर्थिक हानि भी हो सकती है इसलिए थोड़ी सतर्कता बरतें।

Watch Video Here↓

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *